क्लाउड गेमिंग क्या है ? गेमिंग टेक्नोलॉजी – Cloud Gaming Meaning in Hindi

Cloud Gaming – गेमिंग इंडस्ट्री आज के समय में विशाल रूप लेती जा रही है। एक वक़्त था जब गेम्स सिर्फ अपने मनोरंजन या अपना खाली समय में व्यस्त होने के लिए गेम्स को खेला जाता था। लेकिन आज के समय बदलता समय है और इसने गेमिंग इंडस्ट्री को भी बदल के रख दिया है।

रोज नयी नयी Games बनाई जा रही है और खेली जा रही है। गेम की टेक्नोलॉजी ने बहुत ही बड़ा रूप और पैसो में महारत हासिल की है। आजका व्यक्ति न गेम सिर्फ अपने मनोरजन के लिए खेल रहा है बल्कि उससे पैसे भी कमा रहा है।  उसी टेक्नोलॉजी का एक शब्द है Cloud Gaming।

Cloud Gaming की टेक्नोलॉजी आजके समय में बहुत तेजी से बढ़ रही है और लोगों के बिच लोकप्रिय भी हो रही है। अगर आप गेम के शौकीन है तो आपने कभी ना कभी क्लाउड गेमिंग जा ना सुना ही होगा।

अगर आजके गेम्स की बात की जाये तो वह पहले के मुकाबले काफी बड़े और हाई क्वालटी के होते हैं। जहा पहले के गेम्स 8-10 MB  में डाउनलोड हो जाते थे वही आज के गेम 40-50 GB  तक के होते हैं।  इनको चलने के लिए शक्तिशाली हाई-एन्ड कंप्यूटर या फिर गेमिंग कंसोल भी लेना पड़ता है।

इसी दिक्कत को ख़तम किया है है क्लाउड गेमिंग ने।  क्लाउड गेमिंग के साथ इस तरह के बड़े गेम्स खेलना बहुत ही आसान हो जाता है। वैसे तो गेमिंग की दुनिया में क्लाउड गेमिंग टेक्नोलॉजी का आविष्कार बहुत ही पहले हो चूका था लेकिन इसको लोकप्रियता हाल ही में नयी नयी Cloud Gaming Services आने के बाद बढ़ी है।

तो यहाँ आप क्लाउड गेमिंग क्या होती है , कैसे काम करती है , इसके क्या फायदे है यह सब यहाँ जानोगे।  तो चलिए जानते है की क्लाउड गेमिंग क्या होती है।

क्लाउड गेमिंग का मतलब क्या है? | Cloud Gaming Meaning in Hindi

क्लाउड गेमिंग एक प्रकार की गेमिंग टेक्नोलॉजी है, जिसमे गेम एक क्लाउड सर्वर के जरिए चलता है और सीधे यूजर के डिवाइस पर स्ट्रीम किया जाता है।

Google Stadia, Xbox Game Pass और PlayStation Now ने एक गेमिंग शब्द पेश किया है जो एक दशक पहले पूरी तरह से विदेशी होगा: क्लाउड गेमिंग।

इसका आधार सरल है। कंसोल और डिस्क खरीदने के बजाय, आप गेम को किसी भी डिस्प्ले पर स्ट्रीम कर सकते हैं, जो की बिलकुल नेटफ्लिक्स के शो देखने जैसा होगा। लेकिन क्लाउड गेमिंग कैसे काम करता है?

क्लाउड गेमिंग डेटा सेंटर में रिमोट सर्वर का उपयोग करके वीडियो गेम खेलने की एक विधि है।PC या कंसोल पर गेम डाउनलोड और इंस्टॉल करने की कोई आवश्यकता नहीं है।

इसके बजाय, स्ट्रीमिंग सेवाओं को प्राप्तकर्ता डिवाइस पर इंस्टॉल किए गए ऐप या ब्राउज़र पर गेमिंग जानकारी भेजने के लिए एक विश्वसनीय इंटरनेट कनेक्शन की आवश्यकता होती है।

गेम को रिमोट सर्वर पर प्रस्तुत किया और खेला जाता है, लेकिन आप अपने डिवाइस पर स्थानीय रूप से सब कुछ देखते हैं और बातचीत करते हैं।

इसी को क्लाउड गेमिंग कहा जाता है, और यह वास्तव में एक नया विचार नहीं है: पिछले चार दशक में, तकनीकी और आर्थिक बाधाओं के कारण तकनीक पर बार-बार हंसी उड़ाई गयी है। लेकिन इस बार, ऐसा लगता है कि सितारों ने दुनिया में क्लाउड गेमिंग लाने के लिए आखिरकार गठबंधन किया होगा।

क्लाउड गेमिंग क्या है ? गेमिंग टेक्नोलॉजी – Cloud Gaming Meaning in Hindi

वास्तव में CLOUD गेमिंग क्या है? WHAT IS CLOUD GAMING in Hindi?

मान लीजिये आप अपने गेम कंसोल में एक डिस्क को स्लाइड करते हैं, या एक ड्राइव पर गेम की फ़ाइलों को डाउनलोड करते हैं। तो आपका गेम केवल उतना ही अच्छा दिखता है और केवल उतना ही तेज़ चलता है जितना आपके बॉक्स के अंदर प्रोसेसर अच्छा होगा।

आसान शब्दों में कहे तो क्लाउड गेमिंग में आपको गेमिंग कंसोल की जरूरत नहीं होती, इसमें केबल इंटरनेट और कोई भी डिवाइस जैसे स्मार्टफोन ,टेबलेट , स्मार्ट टीवी या लैपटॉप कंप्यूटर के साथ कई सरे गेम खेल सकते हो।

आज के समय बहुत सी Cloud Gaming Service उपलब्ध है और कई बड़ी कंपनियां इस टेक्नोलॉजी के ऊपर अभी और भी काम कर रही हैं।

Cloud Gaming के फायदे | Benefits of Cloud gaming

बात करे क्लाउड गेमिंग के फायदों की तो किसी अन्य गेमिंग प्लेटफार्म जैसे Gaming Console या PC में गेम खेलने के लिए गेम डाऊनलोड करना होता है या अपने गेमिंग कंसोल में गेम की डिस्क लगानी होती है। इसके अलावा गेम कैसे चलेगा यह उस डिवाइस के परफॉर्मेंस, प्रोसेसर, रैम आदि पर निर्भर करता है।

लेकिन क्लाउड गेमिंग में आपको कोई भी गेम डाउनलोड करने की कोई जरूरत नहीं होती है और ना ही किसी गेमिंग कंसोल को खरीदने की जरूरत होती है। क्लाउड गेमिंग में गेम सीधा यूजर के डिवाइस में स्ट्रीम किया जाता है किसी भी नेटफ्लिक्स शो के तरह।

क्लाउड गेमिंग टेक्नोलॉजी कैसे काम करती है?

आज के समय में बहुत सी वीडियो स्ट्रीमिंग सेवा या OTT Service बहुत ही पसंद की जा रही है। इस प्रक्रिया में यूजर इंटरनेट की मदद से सीधा अपने किसी भी डिवाइस पर वीडियो , मूवी, गाने , वेब शो आदि देख पाता है। उसको यह सब डाउनलोड करने की आवशयकता नहीं पड़ती है।

कुछ इसी तरह क्लाउड गेमिंग सर्विस भी काम करती है।  ओट सर्विस की तरह यूजर को यहाँ भी गेम डाउनलोड करने की कोई आवश्यकता नहीं होती है।  गेम सीधा यूजर के डिवाइस पर स्ट्रीम कर दिया जाता है इंटरनेट की मदद से। इसे Game Streaming के नाम से भी जाना जाता है।

इस प्रक्रिया में एक अच्छी इंटरनेट कनेक्टिविटी की जरूरत होती है, ताकि गेम बिना किसी Lag के खेला जा सके।

क्लाउड गेमिंग सर्विस सब्सक्रिप्शन के आधार पर काम करती है।  इसमें आपको महीने भर के लिए या साल भर के लिए सब्सक्रिप्शन लेना पड़ता है तभी आप High-Quality स्ट्रॉमिंग और साउंड के साथ गेम्स खेलने को मिलती है।

उम्मीद है आपको क्लाउड गेमिंग क्या होती है पता चल गया होगा।  ऐसे ही कुछ और गेमिंग से रिलेटेड आर्टिकल को पढ़ने के लिए आप हमरी वेबसाइट का बेल्ल नोटिफिकेशन चालु कर सकते हो।

यह भी जानिए –

सब्सक्रिप्शन क्या होता है?

OTT Platform क्या है?

Game Pre-Registration Meaning in Hindi | गेम में Pre-registration क्या होता है?

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.